• Virat Chaudhary

शिक्षा में सोशल मीडिया के महत्व


यह स्मार्ट फोन और माइक्रो ब्लॉगिंग उपयोग करने का उम्र है। जो कुछ भी हमें जानना होता है उसे बस हम एक क्लिक करके उसके बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है। सोशल मीडिया आज सभी उम्र समूहों द्वारा सबसे व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला टूल है, लेकिन युवाओं और छात्रों के बीच ये अधिक लोकप्रिय है। इसे ध्यान में रखते हुए शोधकर्ताओं का मानना है कि सोशल मीडिया शिक्षा के क्षेत्र में एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है।

अकादमिक विचारकों के एक बड़े समुह का यह मानना है, कि सोशल मीडिया छात्रों को बिगाड़ने वाले कारक के रुप में कार्य करता है लेकिन अगर बुद्धिमानी से इसका उपयोग किया जाये तो यह बेहद प्रभावी हो सकती है। सोशल मीडिया को अच्छा या बुरा कहने के बजाय, हमें अपने लाभ के लिए इसका उपयोग करने के तरीके को खोजना चाहिए। यह सवाल अभी भी बना हुआ है कि शिक्षा में हमारे लाभ के लिए सोशल मीडिया का उपयोग कैसे किया जा सकता है। आइए कोशिश करें और इसका उत्तर दें।


शिक्षा में सोशल मीडिया का महत्व


आज फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन इत्यादि जैसे प्लेटफार्मों का व्यापक रूप से उपयोग किया जा रहा है। शिक्षकों, प्रोफेसरों और छात्रों के बीच ये काफी लोकप्रिय हो गया हैं। एक छात्र के लिए सोशल मीडिया बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि यह उनके लिए जानकारी को साझा करने, जवाब प्राप्त करने और शिक्षकों से जुड़ने में सहायता करता है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से छात्र और शिक्षक एक-दूसरे से जुड़ सकते हैं और इस प्लेटफॉर्म का अच्छा उपयोग करके जानकारी साझा कर सकते हैं।

सोशल मीडिया के निम्नलिखित महत्व हैं-


व्याख्यानो का सीधा प्रसारण: आजकल कई प्रोफेसर अपने व्याख्यान के लिए स्काइप, ट्विटर और अन्य स्थानों पर लाइव वीडियो चैट आयोजित कर रहे हैं। यह छात्रों के साथ-साथ शिक्षक को भी घर बैठे किसी चीज को सीखने और साझा करने में सहायता करता है। सोशल मीडिया की मदद से शिक्षा को आसान और सुविधाजनक बनाया जा सकता है।


सहयोग का बढ़ता आदान-प्रदान: चूंकि हम दिन के किसी भी समय सोशल मीडिया का उपयोग कर सकते है और कक्षा के बाद शिक्षक से प्रश्नों का समर्थन और समाधान ले सकते हैं। यह अभ्यास शिक्षक को अपने छात्रों के विकास के और अधिक बारीकी को समझने में भी मदद करता है।


शिक्षा कार्यो में आसानी: कई शिक्षक महसूस करते हैं कि सोशल मीडिया का उपयोग उनके कामों को आसान बनाता है। यह शिक्षक को अपनी क्षमताओं कौशल और ज्ञान का विस्तार और पता लगाने में भी सहायता करता है।


अधिक अनुशासान: सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर आयोजित कक्षाएं अधिक अनुशासित और संरचित होती हैं क्योंकि वे जानते हैं कि हर कोई इसे देख रहा होता है।


शिक्षा में मददगार: सोशल मीडिया छात्रों को ऑनलाइन उपलब्ध कराई गयी कई शिक्षण सामाग्री के माध्यम से उनके ज्ञान को बढ़ाने में मदद करता है। सोशल मीडिया के माध्यम से छात्र वीडियो और चित्र देख सकते हैं, समीक्षाओं की जांच कर सकते हैं और लाइव प्रक्रियाओं को देखते हुए तत्काल अपने संदेह को दूर कर सकते हैं। न केवल छात्र, बल्कि शिक्षक भी इन उपकरणों और शिक्षण सहायता का उपयोग करके अपने व्याख्यान को और अधिक रोचक बना सकते हैं।


शिक्षण ब्लॉग और लेखन: छात्र प्रसिद्ध शिक्षकों, प्रोफेसरों और विचारकों द्वारा ब्लॉग, आर्टिकल और लेखन पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं। इस तरह अच्छी सामग्री व्यापक दर्शकों तक पहुंच सकती है।


निष्कर्ष: इस बात से अस्वीकार नहीं किया जा सकता है कि यदि बुद्धिमानी से सोशल मीडिया का उपयोग किया जाये तो यह शिक्षा को बेहतर और छात्रों को होशियार बना सकता है।

10 views0 comments

Follow me

© 2018 by Virat Chaudhary
 created with Viratchaudhary.com

 

Call

+91: 706-855-4563  +91: 956-590-9333

  • Facebook Clean
  • Twitter Clean
  • Instagram - White Circle
  • LinkedIn - White Circle
This site was designed with the
.com
website builder. Create your website today.
Start Now